Full Forms

PHP Full Form | PHP क्या हैं, सामान्य उपयोग यह कैसे काम करता हैं?

PHP Full Form PHP क्या हैं, सामान्य उपयोग यह कैसे काम करता हैं
Written by sarkaritips

PHP Full Form:-क्या आपको पता है PHP की Full Form क्या है, और PHP होता क्या है, अगर आपका answer नहीं है, तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं है, क्योंकि आज हम इस post में आपको PHP की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में देने जा रहे है. तो फ्रेंड्स PHP Full Form in Hindi में और PHP की पूरी history जानने के लिए इस post को अंत तक पढ़े।

PHP का पूरा नाम है PHP: Hypertext Preprocessor. ये दुनिया की एक मात्र Open Source Scripting language है . आप इसे Scripting language भी बोल सकते हो. इसको web site designing में इस्तेमाल किया जाता है. यह एक SERVER scripting programming language है. क्यूंकि ये Language server में execute होती है. इसमें भी c, c++और java जैसे code लिखा जाता है. code या program computer के अंदर execute होते हैं. बात की जाए php language की इसको Website नबनाने में use किया जाता है. इसलिए इसको web-based programming Language भी बोलते हैं।

PHP Full Form- Hypertext Preprocessor

पीएचपी संस्करण का इतिहास (History of PHP Version)

  • PHP 1. 0 (8 June 1995)
  • PHP 2.0 (1 November 1997)
  • PHP 3.0 (6 June 1998)
  • PHP 4.0 (22 May 2000)
  • PHP 4.1 (10 December 2001)
  • PHP 4.2 (22 April 2002)
  • PHP 4.3 (27 December 2002)
  • PHP 4.4 (11 July 2005)
  • PHP 5.0 (13 July 2004)
  • PHP 5.1 (24 November 2005)
  • PHP 5.2 (2 November 2006)
  • PHP 5.3 (30 June 2009)
  • PHP 5.4 (1 March 2012)
  • PHP 5.5 (20 June 2013)
  • PHP 5.6 (28 August 2014)
  • PHP 6.x (Not released)
  • PHP 7.0 (3 December 2015)
  • PHP 7.1 (1 December 2016)
  • PHP 7.2 (30 November 2017)
  • PHP 7.3 (12 December 2018)

PHP का सामान्य उपयोग

  • PHP सिस्टम फ़ंक्शंस करता है, यानी किसी सिस्टम पर मौजूद फ़ाइलों से इसे बिना, खोल, पढ़, लिख और बंद कर सकते हैं.
  • PHP के माध्यम आप अपने डेटाबेस में Elements को Add कर सकते हैं, Delete कर सकते हैं, और Modify कर सकते हैं.
  • PHP का उपयोग करके, आप उपयोगकर्ताओं को अपनी वेबसाइट के कुछ पृष्ठों तक पहुँचने के लिए प्रतिबंधित कर सकते हैं.
  • PHP प्रपत्रों को संभाल सकता है, फ़ाइलों से डेटा एकत्र कर सकता है, डेटा को फ़ाइल में Save कर सकता है. इससे ईमेल के माध्यम से आप डेटा भेज सकते हैं, उपयोगकर्ता को डेटा वापस कर सकते हैं.

PHP के फीचर्स | Features of PHP

Performance: दोस्तों PHP पर लिखी गई स्क्रिप्ट दूसरी स्क्रिप्ट जैसे JSP और ASP के मुकाबले काफी तेजी से Load/एक्जिक्यूट होती है जिससे आपको वेब पेज लोड कराने मे ज्यादा वेट नहीं करना पड़ता।

Open Source Software: PHP एक ओपन सोर्स कोड है जिसका इस्तेमाल आप फ्री में वेबसाइट डेवलपमेंट के लिए कर सकते हैं।

और इसके सभी वर्जन फ्री ऑफ कॉस्ट इस्तेमाल करने के लिए उपलब्ध है, जिसके लिए आपको एक भी पैसा नहीं देना होता।

Platform Independent: पीएचपी प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट है जो कि सभी ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे विंडोज, मैक, लाइनेक्स, यूनिक्स पर चलता है।

अगर आपने PHP की कोई एप्लीकेशन बनाई है या प्रोजेक्ट बनाया है तो वह दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम पर भी एग्जीक्यूट हो जाएगा।

Compatibility: अगर compatibility की बात करें तो पीएचपी ज्यादातर सभी लोकल सर्वर के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसमें Apache, IIS etc. जैसे लोकल सर्वर शामिल है।

Embedded: पीएचपी कोड को आसानी से HTML Tags और Script में Embed किया जा सकता है।

History Of PHP Language का इतिहास

PHP जो एक WEB BASED PROGRAMMING LANGUAGE है जिसको 1995 Rasmos Lerdorf ने बनाया था. उन्हने सुरुवात में एक Program लिखा जिसका नाम था Common Gateway Interface (CGI). इसको लिखने के लिए c Programming का इस्तमाल किया गया. इस प्रोग्राम के जरिये उन्होंने अपना Personal Home Page बनया. खास दिलचस्पी के कारण वो web पेज बनाने के लिए अपना database को इस्तेमाल किए. तब इस language का नाम कारण बना, वो नाम था PERSONAL HomePage/ Form Interpreter या PHP/IF भी बोला जाने लगा.

Dynamic webpage को Design करने के लिए इस Language का इस्तेमाल हुआ. इसके बाद इस language को और बहतर बनाने के लिए. एक tool को Develop किया गया जिसका नाम रखा गया Home page tool 1.0 . 2013 तक इसमें बोहत सारे नए features इसमें add किए गए. php HTML embeded बनाया गया और ये php धीरे धीरे दुनिया की बड़ी बड़ी website बनाने में इस्तेमाल होने लगा. ये था छोटासा php का इतिहास.

You May Also Like This:-

दोस्तो आशा करता हू कि आप सबको हमारे द्वारा दी गई URL Full Form की जानकारी कैसी लगी आप हमको Comment Box में Comment करके जरूर बताये जिससे का हम आपके लिए ऐसे ही और भी महत्वपूर्ण जानकारियाँ आपके साथ शेयर कर सके धन्यवाद।

जरुर पढ़ें :- दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे.

About the author

sarkaritips

Leave a Comment

error: Content is protected !!